Internal motivation

    आत्मसम्मान, जिमेदारी और विश्वास और सकारात्मकता व्यक्ति के आंतरिक प्रेरणाएँ होती हैं,

    आन्तरिक प्रेरणा का संबध जीत या हार से नही होता, बल्कि यह किसी काम को ईमानदारी से करने में सही निर्णय लेने से महसूस होता है।

    बचपन में जब फ़िल्म देखते थे तो कभी कभी एक सिन दिखाई पड़ता था की , एक इंसान के जैसा दो और निकल कर आते थे, एक काले कपड़े में होता और दूसरा सफेद कपडे में, दोनों अलग अलग बाते करते , में सोचती थी काला वाला भुत है और सफेद वाला परी के पास से आया होगा,पर अब जा के मतलब समझ आया,

       वास्तव में वो तो हमारी आत्मा की आवाज़ होती है, जब हम किसी कार्य को करते हुए परिस्थितियों के भँवर में फस जाते हैं तो हम अपने दिल से,आत्मा से पूछते है की क्या करे ?? और दो बातें जेहन में चलती है,

    तब हम अपनी आन्तरिक प्रेरणा से निर्णय लेते हैं,

    किसी काम के लिए सही आंतरिक प्रेरणा खुद से खुद के लिए बहुत बड़ा पुरस्कार है।

    Advertisements

    47 thoughts on “Internal motivation

        1. जी । धन्यवाद तो हम कह रहे हैं । जो आपने अपनी रचना हम तक पहुचाई।

          Like

      1. aha.aahh. kan dah kena retarded, ni fanatik2 anzalna yg bodoh, ckp mcm pandai tp habuk pun xde. ahahaha.. oii klu dah bodoh jgn panggil org bodoh!Hot debate. What do you think? 7  6

        Liked by 1 person

    1. Hi thanks for the follow. I am now following you as well Very interesting blog even though I have only read one post so far, but am looking forward to reading more. All my best to you, and nice to meet you.

      Liked by 1 person

    2. प्रेरणा के बिना, हम भटकते हुए हैं क्योंकि हम जानते हैं कि हम क्या चाहते हैं, विषय सबसे अच्छा बेनकाब। एक अच्छा लेखन। बधाई हो।

      Like

    3. This following line is the crux of your article:
      आन्तरिक प्रेरणा का संबध जीत या हार से नही होता, बल्कि यह किसी काम को ईमानदारी से करने में सही निर्णय लेने से महसूस होता है।
      Nowadays our parents our programming in us the meaning of motivation in such a wrong sense by equating it with winning and losing that by the time we grow up..life seems like a war/competition with which we are at constant struggle with!Thanks for reminding it to everyone.

      Liked by 2 people

    4. Bohut khoob aur sach: किसी काम के लिए सही आंतरिक प्रेरणा खुद से खुद के लिए बहुत बड़ा पुरस्कार है।

      Liked by 1 person

    5. Dil Ki Awaz this was beautifully written. So many words of truth that speak of ones character. We are so pleased we have discovered each other. It is going to be joy for us discovering and seeing the world through your eyes and pictures.

      दिल की आवाज़ यह खूबसूरती से लिखा गया था। बहुत सारे शब्द सच्चाई जो कि चरित्र की बात करते हैं। हम इतने खुश हैं कि हम एक-दूसरे की खोज करते हैं हमें अपनी आंखों और चित्रों के माध्यम से दुनिया को खोजना और देखकर खुशी होगी।

      Liked by 1 person

    6. “Picts or it didn’t hae&8np#p221;. The bell curve explanation is the the most likely, easily tracked, perhaps not at the top end, where credit may be stolen, but certainly on the bottom. And the bottom of the curve is what? People in prison and the Homeless, and both are overwhelmingly men (90%+ for both).

      Liked by 1 person

    Leave a Reply

    Fill in your details below or click an icon to log in:

    WordPress.com Logo

    You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

    Twitter picture

    You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

    Facebook photo

    You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

    Google+ photo

    You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

    Connecting to %s